अनुशासन पर निबंध – Anushasan Essay In Hindi


स्वागत है आपका एक और बेहतरीन पोस्ट में। आज की पोस्ट में हम बात करेंगे Anushasan in hindi essay के बारे में। जैसा कि आप लोग जानते हैं कि अगर आपके जीवन में अनुशासन नहीं है तो आप अपने जीवन के किसी भी क्षेत्र में सफल नहीं हो पाएंगे।

अगर आप भी अनुशासन के ऊपर एक बेहतरीन और जबरदस्त निबंध लिखना चाहते हैं लेकिन आपको समझ में नहीं आ रहा है कि निबंध की शुरुआत कैसे करें और कैसे आप एक अच्छा निबंध लिख सकते हैं तो आपके लिए आर्टिकल काफी महत्वपूर्ण होने वाला है क्योंकि इसमें हम आपको काफी अच्छी तरह से बताएंगे कि आप अनुशासन के ऊपर निबंध कैसे लिख सकते हैं।

इस पोस्ट के माध्यम से हमने बताया है कि अनुशासन का क्या महत्व है, अनुशासन किस प्रकार हमारे लिए उपयोगी है, अनुशासन के क्या लाभ है तथा अनुशासन क्या होता है? इत्यादि के बारे में जानकारी देने का प्रयास किया है। इस पोस्ट को हमने आसान भाषा मे लिखने का प्रयास किया है ताकि आपको सभी बातें आसानी से समझ आ सकें।

इस पोस्ट में आपको अनुशासन पर कई निबन्ध दिए गए है जैसे अनुशासन पर निबंध 100 शब्दों में, Anushasan in hindi essay in 300 words, Anushasan par nibandh 500 शब्दों में तथा अनुशासन के महत्व पर 10 लाइन इत्यादि।

अनुशासन पर निबंध 100 शब्दों में – Anushasan Essay In Hindi

अनुशासन के बिना हम अपने जीवन का कोई भी रोजमर्रा का काम नहीं कर सकते हैं इसलिए हमें अनुशासन के अनुसार ही अपनी सारी गतिविधियां करनी होती है इसका सबसे बड़ा उदाहरण है कि हमारा ब्रह्मांड भी अनुशासित है वह अपना सभी गतिविधि अनुशासन के अनुरूप ही संचालित करता है जैसे सूरज सुबह के समय उदय होता है और शाम के समय डूब जाता है I उसकी पूरी प्रक्रिया अनुशासन के तहत ही संचालित होती है तभी जाकर हमारा ब्रह्मांड संचालित होता है I

ऐसे में हमें भी जीवन में अनुशासन का पालन करना चाहिए I अगर कोई व्यक्ति अपने जीवन में काफी अनुशासित है तो ऐसे व्यक्ति कोई भी काम अगर अपने हाथों में लेते हैं तो उसे काफी गंभीरता से पूरा करते हैं ऐसे व्यक्ति समाज में सम्मान की दृष्टि से देखे जाते हैं और उनको मान सम्मान और धन सभी की प्राप्ति होती है I

विशेष तौर पर विद्यार्थियों को अनुशासन का पालन ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठा के साथ करना चाहिए। तभी जाकर वह अपने जीवन में कुछ बन पाएंगे क्योंकि अगर विद्यार्थी अनुशासन का पालन नहीं करते हैं तो वह जीवन के हर मुकाम पर असफल साबित होंगे I

अनुशासन पर निबंध 300 शब्दों में – Anushasan Par Nibandh


अगर आप अपने जीवन के सभी लक्ष्य और सपनों को पूरा करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अपने जीवन में अनुशासन का पालन करना होगा तभी जाकर आप जीवन के हर मुकाम पर सफल हो पाएंगे I

अनुशासित व्यक्ति अपने सभी लक्ष्य और सपनों को काफी आसानी से पूरा कर सकता है क्योंकि उसे मालूम है कि उसे अपने सपनों और लक्ष्य की प्राप्ति के लिए कौन सा काम कब करना है और उसके लिए उसे किसी योजना के तहत काम करना है I

इतिहास में आपको ऐसे अनेक महापुरुष मिल जाएंगे जिन्होंने अपने जीवन में सफलता तभी प्राप्त की है जब उन्होंने अनुशासन का पालन किया।

इसका सबसे बड़ा उदाहरण है हमारे देश के यशस्वी और विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता नरेंद्र मोदी जी वह अपने जीवन के सभी काम योजनाबद्ध तरीके से करते हैं और वह काफी अनुशासित व्यक्ति हैं समय के भी काफी पाबंद है।


उन्हें मालूम है कि उन्हें कब कहां पर जाना है और कितने बजे तक पहुंच जाना है इन सभी दैनिक दिनचर्या आसानी से वह पूरा कर जाते हैं क्योंकि वह जीवन में अनुशासित हैं हमें उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए तभी जाकर हम एक सफल व्यक्ति बन पाएंगे नहीं तो हमें जीवन में हमेशा असफलता का सामना करना पड़ेगा

सबसे बड़ी बात है कि हमें अपने बड़ों की बातों को मानना चाहिए और उनके अनुभवों से हमें जीवन में काफी कुछ सीखने को मिलेगा कि हमें कौन सा काम करना चाहिए और कौन सा नहीं इसके अलावा हमारे बड़े बुजुर्ग अपने जीवन में किस प्रकार संघर्ष से उन्होंने सफलता प्राप्त की है उनसे भी हमें प्रेरणा लेनी चाहिए I

ताकि हमें भी मालूम चल सके कि अगर हमें जीवन में असफलता आ रही है तो उसके पीछे की वजह क्या है तभी तो हम अपने में सुधार कर पाएंगे और असफलता को सफलता में तब्दील कर पाएंगे I

अगर कोई व्यक्ति अपने जीवन में अनुशासनहीन है तो उसे जीवन में कई सारे कठिनाई और तकलीफों का सामना करना पड़ेगा और वह अपने जीवन के हर मुकाम पर असफल साबित होगा I

इसके अलावा ऐसे लोग समाज में सम्मान की दृष्टि से नहीं देखे जाते हैं ऐसे व्यक्ति को ना मान सम्मान यश और धन की प्राप्ति होती है वह हमेशा दुखी और निर्धन दिखाई पड़ेंगे I

अनुशासन पर निबंध 500 शब्दों में – Anushasan Long Essay In Hindi

जीवन में अनुशासन का महत्व

अगर आप अपने जीवन के सभी रोजमर्रा की चीजों को नियमित तरीके से संचालित करेंगे तो आपका जीवन स्तर ऊंचा और सशक्त बनेगा और आप कभी भी गंभीर बीमारी के शिकार नहीं होंगे और आप हमेशा स्वस्थ और तंदुरुस्त रहेंगे। जो व्यक्ति अपने जीवन में अनुशासित होते हैं उन्हें जीवन में जो भी प्राप्त करना है वह आसानी से प्राप्त कर जाते हैं I

ऐसा बिल्कुल नहीं है कि आप दूसरे के बताए गए अनुशासन के नियम और कायदे पर चले बल्कि आप खुद ही अनुशासन का निर्माण करें और आपके द्वारा बनाया गया अनुशासन आपके लिए फायदेमंद होगा क्योंकि वह आपके द्वारा निर्मित होगा प्रत्येक व्यक्ति की दैनिक दिनचर्या अलग-अलग होती है इसलिए उसका अनुशासन भी अलग होगा।

अपने लिए Anushasan का निर्माण करना काफी आसान है इसके लिए आप अपने घर पर एक चार्ट निर्मित करें और उसे दीवार पर चिपका दें चार्ट में आप अपने दैनिक दिनचर्या से जुड़े हुए सभी गतिविधियों की सूची लिखें और उसे कब और कितने समय में पूरा करना है उसका पूरा विवरण देंगे ताकि आप अपने दैनिक दिनचर्या के सभी जरूरत को आसानी से पूरा कर पाएंगे I इसके माध्यम से आप अपने जीवन के सभी लक्ष्य और सपनों को पूरा कर पाएंगे I

अनुशासन के नियम

  • हमें संतुलित और संयमित दैनिक दिनचर्या का पालन करना चाहिए I
  • अपने बड़ों और अभिभावकों का भी सम्मान करना चाहिए I
  • आप अपने जीवन में हमेशा बेकार और व्यर्थ के कामों से दूरी बनाकर रखें तभी जाकर आप जीवन में सफल हो पाएंगे I
  • बुरी आदत और संगत से दूरी बनाकर रखें
  • आप अपने जीवन में कोई भी काम सकारात्मक तरीके से करें तभी आपको सफलता प्राप्त होगी
  • अनुशासन का पालन ईमानदारी और ईमानदारी के साथ करना चाहिए I
  • विषम परिस्थितियों में भी आप किसी भी काम को संयम के साथ करें I
  • किसी भी काम को लगन के साथ पूरा करना चाहिए I

विद्यार्थी के जीवन में अनुशासन का महत्व


विधार्थी जीवन में अनुशासन का विशेष महत्व है क्योंकि अगर कोई भी विद्यार्थी अपने जीवन काल में अनुशासित नहीं है तो आप अपने जीवन में कभी भी सफलता को प्राप्त नहीं कर पाएगा और ऐसे विद्यार्थी हमेशा जीवन के हर मोड़ पर असफल साबित होंगे उसके विपरीत जो विद्यार्थी हमेशा अपने जीवन में अनुशासन का पालन करते हैं उनका कैरियर और भविष्य दोनों सुरक्षित हो जाता है और वह जीवन के हर मुकाम पर सफलता प्राप्त करते है I उनका मान सम्मान समाज में हमेशा ऊपर रहता है लोग उनकी प्रशंसा और इज्जत भी करते हैं I

विधार्थी के तौर पर आपको अपनी दैनिक दिनचर्या के सभी चीजों को अनुशासन के मुताबिक संचालित करना होगा जैसे सुबह कब उठना है नहाना है नाश्ता करना है स्कूल जाना है स्कूल से आकर पढ़ाई करना है ऐसे तमाम आपके जितनी भी काम है उन्हें अनुशासन के नियम और कायदे के अनुसार ही आपको संचालित करना होगा। तभी तो आप उन कामों को आसानी से कर पाएंगे और अगर आप ऐसा कर जाते हैं तो आपके अंदर बचपन काल से ही अनुशासन के बीज के आपके अंदर अंकुरित हो जाएंगे और जब आप बड़े होंगे तो आप एक अनुशासित से नागरिक बन पाएंगे I

प्रकृति और अनुशासन का संबंध

प्रकृति और अनुशासन का संबंध वैसा ही है जैसा पति पत्नी का होता है यानी कहने का मतलब है कि दोनों एक दूसरे के पूरक हैं हमारी प्रकृति अनुशासन के नियम और कायदों से बनी हुई है उसे निरंतर अनुशासन के तहत काम करना होता है।

उदाहरण के तौर पर सुबह के समय सूर्य उदय होना और शाम के समय अस्त होना, चंद्रमा निकलना, हवा का चलना, सही वक्त पर वर्षा होना, मौसम का बदलना, पेड़ पौधों पर नए फूल और पत्ते आना, कोयल का कुकु करना, जन्म और मृत्यु का चक्र संचालित होना ऐसे तमाम ब्रह्मांड की गतिविधियां अनुशासन के द्वारा ही संचालित होती हैं।

अगर उन्हें जिस दिन अनुशासनहीनता आ गई तो आप समझ जाइए कि इस ब्रह्मांड का पूरा विनाश हो जाएगा और इस ब्रह्मांड पर कोई भी जीव, जंतु, मनुष्य का अस्तित्व नहीं रह जाएगा इसलिए जिस प्रकार प्रकृति अनुशासन का पालन करती है ठीक उसी प्रकार हमें भी उसका पालन करना होगा

अनुशासनहीनता देश और समाज के लिए अभिशाप है


किसी भी देश और समाज में अगर अनुशासन नहीं है तो वह देश और समाज निरंतर पतन की तरफ जाएगा और 1 दिन ऐसा आएगा कि देश और समाज दोनों का पतन हो जाएगा इसलिए अगर किसी देश और समाज को विकास करना है और उसे विकास के पथ पर अग्रसर होना है तो उसे अनुशासन का पालन करना होगा। तभी देश और समाज विकसित और मजबूत हो पाएगा देश की सफलता का मूल मंत्र है।

उपसंहार

Anushasan यानी अगर देश में अनुशासन होगा तो सभी सरकारी कर्मचारी अपने अनुशासन के तहत काम करेंगे तभी तो देश हमारा आगे बढ़ेगा कि कोई भी देश आगे तभी बढ़ सकता है जब सामूहिक प्रयास हो केवल एक व्यक्ति के प्रयास से देश कभी भी मजबूत और विकसित नहीं होता है समाज के अगर सामाजिक व्यवस्था को मजबूत सशक्त करना है तो समाज में भी अनुशासन का अंकुर रोपण करना होगा I

अनुशासन पर 10 पंक्तियां – Anushasan Essay Par 10 Line

  1. समय का पाबंद और दोस्तों से दूर रहना है अनुशासन का लाता हैm
  2. अनुशासन का अगर आप सही तरीके से पालन करते हैं तो आपका जीवन सफल और सार्थक को जाएगा।
  3. अलग-अलग क्षेत्रों के लिए अनुशासन की रूपरेखा भी अलग होती है इसलिए क्षेत्रों के मुताबिक आपको अनुशासन का पालन करना चाहिए।
  4. अनुशासन के द्वारा बेहतर चरित्र का निर्माण होता।
  5. अनुशासन के माध्यम से देश उन्नति के रास्ते पर अग्रसर हो पाता।
  6. जिस व्यक्ति के जीवन में अनुशासन नहीं होता है वह गैर जिम्मेदार और आलसी हो जाता है।
  7. अनुशासन के द्वारा आप गलत और सही दोनों का फर्क समझ सकते हैं।
  8. जो व्यक्ति अनुशासन का कड़ाई के साथ पालन करते हैं उन्हें जीवन के हर मोड़ में सफलता प्राप्त होती है I
  9. अनुशासित व्यक्ति का सभी लोग सम्मान करते हैं।
  10. जीवन में अनुशासन का विशेष महत्व है।

इन्हे भी पढ़ें:-

उम्मीद करता हूं दोस्तों की “अनुशासन पर निबंध ( Anushasan essay in hindi )” से सम्बंधित हमारी यह पोस्ट आपको काफी पसंद आई होगी। इस पोस्ट में हमनें अनुशासन से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां देने का प्रयास किया है। आशा है आपको पूर्ण जानकारी मिल पाई होगी।

अगर आप यह पोस्ट आपको अच्छा लगा तो आप अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर कर सकते हैं। अगर आपके मन मे कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं हम आपसे जल्द ही संपर्क करेंगे। अपना कीमती समय देने के लिए आपका बहुत – बहुत धन्यवाद।

FAQ About Anushasan In Hindi

Q: देश के विकास के लिए अनुशासन का क्या महत्व है?

Ans: देश के विकास के लिए अनुशासन का विशेष महत्व है क्योंकि देश में अगर अनुशासन नहीं होगा तो देश का विकास नहीं हो सकता है। अनुशासन ही व्यक्ति को जिम्मेदार और इमानदार बनाता है इसलिए देश के उन्नति के लिए देश के नागरिकों को अनुशासित होना आवश्यक है।

Q: विद्यार्थी के जीवन में अनुशासन का क्या महत्व है?

Ans: विद्यार्थी के जीवन में अनुशासन का विशेष महत्व है किक अनुशासन के द्वारा यह विधार्थी अपने करियर और चरित्र दोनों का निर्माण कर सकता है क्योंकि इसके बिना कोई भी व्यक्ति अपने जीवन में सफल नहीं हो सकता है।

Q: अनुशासन का पालन करना आवश्यक क्यों है

Ans: अनुशासन का पालन करना आवश्यक है इसका प्रमुख कारण यह है कि आप अगर अपने जीवन में अनुशासित ना होंगे तो आप अपने लक्ष्य और सपनों को पूरा नहीं कर सकते हैं। लक्ष्य और सपने को पूरा करने के लिए आपको अनुशासन की आवश्यकता पड़ेगी क्योंकि अनुशासन के द्वारा ही आप अपने लक्ष्य और सपनों तक पहुंच सकते हैं I

Q: अनुशासन का अर्थ क्या होता है?

Ans: अनुशासन का मतलब होता है अनु + शासन यानी जीवन में नियम कानूनों का पालन करना उसे ही अनुशासन कहते हैं I

मेरा नाम Sandeep Karwasra है और में topkro.com ब्लॉग का ऑनर हूँ। अपने ब्लॉग के माध्यम से आप तक अच्छी जानकारी पहुंचाना मुझे काफी अच्छा लगता है।

Leave a Comment

close