BMS क्या है BMS के बारे में पूरी जानकारी – Bachelor Of Management Studies

BMS का मतलब बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज है। बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एक अंडरग्रेजुएट जॉब ओरिएंटेड मैनेजमेंट कोर्स है। यह course नैतिकता और प्रबंधन के विकास के बारे में शिक्षित करने पर केंद्रित है।

बीएमएस स्नातकों के लिए यह एक अच्छा अवसर है क्योंकि यह सीधे प्रबंधन के विकास से संबंधित है। यह course Leadership और Business जैसे गुणों को बेहतर बनाने में भी मदद करता है, चलिए अब हम आपको बताते है कि BMS क्या है बीएमएस से सम्बन्धित पूरी जानकरी के बारे में |

BMS Kya Hai?

BMS Ka Full Form बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज है। बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एक अंडरग्रेजुएट जॉब ओरिएंटेड मैनेजमेंट कोर्स है। इस कोर्स की अवधि 3 साल है। बीएमएस पाठ्यक्रम में छह सेमेस्टर होते हैं, जिसमें प्रत्येक शैक्षणिक वर्ष में 2 सेमेस्टर होते हैं।

यह course नैतिकता और प्रबंधन के विकास के बारे में व्यक्तियों को शिक्षित करने पर केंद्रित है। बीएमएस स्नातकों के लिए यह एक अच्छा अवसर है क्योंकि यह सीधे प्रबंधन के विकास से संबंधित है। इस कोर्स में लीडरशिप और business मैनेजमेंट के गुणों को बेहतर बनाने में भी मदद करता है

बीएमएस या बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज दुनिया भर के कई विश्वविद्यालयों द्वारा पेश किए जाने वाले प्रबंधन अध्ययन के लिए एक स्नातक कोर्स है। यह एक टीम में प्रबंधन और काम करने के लिए आवश्यक नेतृत्व कौशल हासिल करने का अवसर प्रदान करता है।

इसे भी पढ़े: B. Tech क्या है

BMS कौन कर सकता है?

अन्य कोर्स कि तरह इस कोर्स में भी विद्यार्थियों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से वाणिज्य, कला या विज्ञान स्ट्रीम में 10+2 पूरा करना होगा ।

इसके बाद कुछ university या संस्थान बीएमएस के कोर्स के लिए Entrance exam भी लेती है जिसमे मिले अंकों के आधार पर आपका चयन होता है |

BMS Course Entrance Exam

Common Admission Test

Management Aptitude Test

Common Management Admission Test

Indian Institutes of Foreign Trade

Tata Institute of Social Sciences National Eligibility Test

MICAT

बीएमएस कोर्स Admission Process

विद्यार्थियों को बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज कोर्व्यस में एडमिशन लेने के लिए विश्वविद्यालयों द्वारा उनकी प्रवेश प्रक्रिया द्वारा आयोजित की जाने वाली प्रवेश परीक्षाओं को पास करना होगा। आवेदकों को अपनी वेबसाइट के माध्यम से चयनित विश्वविद्यालयों / बीएमएस पाठ्यक्रम कॉलेजों से प्रवेश पत्र / आवेदन पत्र डाउनलोड करना होगा।

इसके बाद विद्यार्थियों को बीएमएस पाठ्यक्रम फॉर्म भी भरना होगा उसके बाद वे स्वयं कॉलेज जाकर एडमिशन ले सकते है |

इसे भी पढ़ें:- Bsc क्या है, Bsc के बारे में पूरी जानकारी

Best Colleges for BMS in India

चलिए अब बात करते है India के कुछ Best कॉलेज जहाँ बीएमएस कि पढाई होती है |

University of Delhi

Shaheed Sukhdev College of Business Studies, Delhi

University of Mumbai

IP Univerity, Delhi

St. Xavier College, Mumbai

Jain Univerity, Bangalore

Shiv Nadar University, UP.

NIMS University

Azad Degree College

St. Francis College for Women

Adarsh College of Arts and Commerce

इसे भी पढ़ें:- M. Com किसे कहते हैं?

BMS में Subjects

चलिए अब बात करते है कि बीएमएस के कोर्स में कौन से subjects कि पढाई होती है:

Strategic managementManagerial Economics
Organizational StrategyBank Strategy and Management
Business LawEntrepreneurship
Organizational BehaviourIntroduction to International Business
Micro EconomicsLeadership
Introduction to marketingAdvanced Financial Accounting.
Human resource managementAccounting
Operations and Information managementIntroduction to finance

BMS के बाद जॉब

Consultant

Arbitrator

Business Adviser

Business Development Manager

Corporate Investment Banker

Market Research Analyst

Human Resource Manager

Professor/Lecturer

इसे भी पढ़ें:- MCA क्या है MCA कौन कर सकता है?

BMS कोर्स करने के बाद सैलरी

बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज कि पढाई करने के बाद आपके skill और knowledge के अनुसार आपकी वेतन 4 लाख प्रति वर्ष होती है।

FAQ About BMS

BMS क्या है

बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एक अंडरग्रेजुएट जॉब ओरिएंटेड मैनेजमेंट कोर्स है। इस कोर्स की अवधि 3 साल है। बीएमएस पाठ्यक्रम में छह सेमेस्टर होते हैं, जिसमें प्रत्येक शैक्षणिक वर्ष में 2 सेमेस्टर होते हैं।

BMS का फुल फॉर्म क्या है ?

BMS का फुल फॉर्म Bachelor of Management Studies है |

BMS कितने वर्षो का होता है ?

बीएमएस का कोर्स तीन वर्षों का होता है, जिसमे 6 सेमेस्टर होते है |

मुझे उम्मीद है BMS कोर्स से जुडी सभी जानकारी आपको मिल गयी होगी |

Leave a Comment