Essay On Durga Puja in Hindi

आज के पोस्ट के माध्यम से आप सभी को Essay On Durga Puja in Hindi से संबंधित हर महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होने वाली है। क्योंकि आज के लेख में मैं आपको दुर्गा पूजा पर निबंध से जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी साझा करने वाला हूं। इसलिए यदि आप भी Durga Puja पर निबंध लिखना चाहते है और अगर आपको Essay कैसे लिखा जाता है इसके बारे में नहीं पता है तो आप हमारे इस पोस्ट के अंत तक अवश्य बनें रहें। 

दुर्गा पूजा पर निबंध – Durga Puja Essay 100 Words  

भारत एक ऐसा देश है जहां पर हर धर्म के लोग रहते है। हिंदू धर्म में मनाएं जाने वाले सभी पर्वो में से एक दुर्गा पूजा पर्व भी शामिल है जो कि काफी पवित्र मानी जाती है। हालांकि, दुर्गा पूजा भारत भर में धूम धाम से मनाया जाता है लेकिन मुख्य रूप से इस पश्चिमी बंगाल, बिहार, झारखंड, ओडिशा इत्यादि क्षेत्रों में काफी ज्यादा धूम धाम से सेलिब्रेट किया जाता है। 

दुर्गा पूजा एक ऐसा त्यौहार है, जिसका इंतजार हर हिंदू धर्म के लोगों को काफी ज्यादा होता है। भारत में हिंदू धर्म के लोग दुर्गा पूजा में हर जगह पर बड़े बड़े पंडाल वगैरह सजा कर बड़े बड़े मां दुर्गा की मूर्ति को बैठाकर पूरे 9 दिन तक पूजा इत्यादि करते है और कई व्यक्ति तो मां दुर्गा का आशीर्वाद पाने के लिए 9 दिन तक फास्टिंग भी करते है। 

दुर्गा पूजा पर निबंध इन हिंदी 200 शब्दों में – 

हिंदू धर्म में मनाई जाने वाली सभी पवित्र त्योहारों में से एक दुर्गा पूजा भी शामिल है। इस त्यौहार को बुराई पर अच्छाई की जीत के मिशाल पर काफी धूम धाम से मनाया जाता है। वैसे तो इसे भारत भर में धूम धाम और काफी खुशियों के साथ मनाया जाता है, लेकिन इसे विशेष रूप से बिहार, झारखंड, ओडिशा, पश्चिमी बंगाल और त्रिपुरा इत्यादि क्षेत्रों में लोग काफी ज्यादा धूम धाम से मनाते है। 

दुर्गा पूजा के वैसे तो 9 दिन काफी खास होते है, लेकिन सप्तमी के दिन माता का पट खुलने के बाद तो लोगो के मन में माता को देखने की भीड़ उभर उभर कर दिखाई देती है। माता के कई भक्त तो इन्हें खुश करने के लिए और माता का आशीर्वाद लेने के लिए नौ दिन तक फास्टिंग करते है। माना जाता है कि नौ दिन तक फास्टिंग करने के बाद व्यक्ति के जीवन में सुख शांति बनी रहती है। 

हमारे देश में कई राज्यों में तो दुर्गा पूजा आने से एक महीना पहले से ही पंडाल वगैरह की डेकोरेशन इत्यादि करनी शुरू भी हो जाती है। कई राज्यों में नौमी के दिन डांस, गाने और कई सारे प्रोग्राम भी किए जाते है और इसमें कई लोग शामिल होकर दुर्गा पूजा का आनंद उठाते है। 10मी के दिन रावण वध और कई जगह पुतला जलाने की भी परंपरा है। जब 10 मी के बाद मां दुर्गा की बिदाई होती है, तो सभी भक्तों के आंखों में आंसू नीकल आते है। 

दुर्गा पूजा पर निबंध इन हिंदी 500 वर्ड्स

दोस्तों, यदि किसी व्यक्ति को दुर्गा पूजा पर 500 वर्ड में निबंध लिखना है, तो अब हम आपको आगे के लेख में 500 वर्ड में कैसे निबंध लिख सकते हैं इससे जुड़ी जानकारी साझा करने वाले हैं। जो कि इस प्रकार है….

आखिर कब मनाया जाता है दुर्गा पूजा ? 

दुर्गा पूजा हिंदू धर्म में सबसे पवित्र और सबसे धूम धाम से सेलिब्रेट की जाने वाली त्यौहारों में से एक है। हर वर्ष अश्विन महीने के शुक्ल पक्ष के दिन से ही दुर्गा पूजा की शुरुआत हो जाती है। जिसके बाद दुर्गा पूजा का समापन अश्विन माह के शुल्क पक्ष के 10 वे दिन के साथ खत्म हो जाता है। इस वर्ष यानी कि साल 2022 में दुर्गा पूजा 1 अक्टूबर को सेलिब्रेट किया जाएगा। 

आखिर दुर्गा पूजा का महत्व क्या है ? 

दुर्गा पूजा हमारे भारत के हिन्दू धर्म के सबसे पवित्र त्यौहारों में से एक है और यह एक ऐसी पूजा है जिसे कुल 9 दिनों तक काफी धूम धाम से मनाया जाता है। मां दुर्गा की पूजा करने से और इनके लिए 9 दिन का व्रत रखने से व्यक्ति के जीवन में सुख और शांति हमेशा बनी रहती है। इस मौके पर सरकारी छुट्टी भी पूरे 10 दिनों के लिए मिलती गई। ताकि जो भी लोग अपने घर या गांव परिवारों से दूर रहकर पैसे कमा रहे है वे अपने घर जाकर अपने परिवार के साथ दुर्गा पूजा सेलिब्रेट कर सकें। 

दुर्गा पूजा के अवसर पर हर राज्य में बड़े-बड़े पंडाल लगाए जाते हैं और 10 दिन वहां पर प्रोग्राम किए जाते हैं। पंडाल के मामले में पश्चिम बंगाल के पंडाल के बारे में कौन नहीं जनता। पश्चिमी बंगाल में ऐसा भव्य पंडाल लगाया जाता है जिसे देखकर लोगों की आंखें खुली की खुली रह जाती हैं। खास तौर पर कई लोग छुट्टी लेकर दुर्गा पूजा में पश्चिमी बंगाल जाना पसंद करते हैं। 

आखिर कैसे मनाया जाता है दुर्गा पूजा ? 

हमारे भारत में हर राज्य में हिंदू समुदाय के लोग दुर्गा पूजा को काफी ज्यादा धूमधाम से सेलिब्रेट करते हैं। साथ ही कई लोग तो ऐसे हैं जो 9 दिन तक फास्टिंग रखते हैं ताकि उन्हें माता दुर्गा का आशीर्वाद और सुख शांति प्राप्त हो सके। इसलिए भारत में हर हिंदू धर्म के लोगों के लिए दुर्गा पूजा का महत्व काफी अधिक है। नवरात्रि चढ़ने के पश्चात 9 दिन माता का पूजा काफी धूमधाम से किया जाता है और दसवीं को रावण वध के बाद विसर्जन के समय सभी भक्तों के आंखें नम हो जाती हैं। 

निष्कर्ष Durga Puja Par Nibandh

दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारा Essay On Durga Puja in Hindi का यह पोस्ट पसंद आया होगा। आज के लेख में मैंने आपको दुर्गा पूजा पर निबंध कैसे लिखें इससे संबंधित हर महत्वपूर्ण जानकारी को आप सभी के साथ शेयर किया है। यदि आपको हमारा दुर्गा पूजा पर निबंध कैसे लिखें का यह पोस्ट पसंद आए तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करना ना भूलें। 

मेरा नाम रौशन ठाकुर है और मैं पेशे से हिंदी कंटेंट राइटर हूँ. मैं Topkro.com वेबसाइट के उपयोगकर्ताओं के लिए पिछले 6 महीनों से निबंध, गणित जैसे विषयों पर जानकारी प्रदान कर रहा हूँ. यदि आप अपने वेबसाइट के लिए हिंदी कंटेंट राइटर की तलाश कर रहे हैं तो आप Raushan4005@gmail.com इसपर मुझसे संपर्क कर सकते हैं.

Leave a Comment

close