Interior Designer क्या है, Interior Design के बारे में पूरी जानकारी

Spread the love

यदि आप एक रचनात्मक व्यक्ति हैं और आपको डिजाइन करना पसंद हैं, तो यह कोर्स आपके लिए काफी मददगार होगा। जो छात्र Interior Design में डिग्री प्राप्त करना चाहते हैं, उन्हें इस कोर्स पर एक नज़र डालनी चाहिए।

इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स उन छात्रों के लिए एक लोकप्रिय विकल्प है जो इंटीरियर डिजाइन के क्षेत्र में उत्कृष्टता प्राप्त करना चाहते हैं। तेजी से हो रहे शहरीकरण ने इंटीरियर डिजाइनरों की मांग को बढ़ा दिया है।

विभिन्न विश्वविद्यालयों में अब इंटीरियर डिजाइन में औपचारिक डिग्री में शामिल कर दिया है, कोई भी 12 वीं कक्षा को सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद डिप्लोमा या डिग्री प्रोग्राम का विकल्प चुन सकता है।

B.Sc Interior Designer Kya Hai

B.sc Interior Design Ka Full Form बैचलर ऑफ साइंस इन इंटीरियर डिजाइन (बीएसआईडी) एक अंडरग्रेजुएट फैशन और इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स है, अगर आप एक क्रिएटिव हो तो यह कोर्स आपके लिए बहुत ही ज्यादा अच्छा होगा, आप यह कोर्स 12th कि पढाई पूरी करने के बाद ही शुरू कर सकते है | एक Interior Designer के रूप में आपके अंदर एक आवश्यक क्रिएटिव skill होना चाहिए |

इसे भी पढ़े: MBA क्या है ?

Eligiblity Criteria for B.Sc Interior Designing Course

आवेदक को अपने (10 + 2) माध्यमिक और उच्च शिक्षा से विषयों के पाठ्यक्रम के कम से कम 50% अंकों के साथ सफलतापूर्वक उत्तीर्ण होना चाहिए।

कुछ विश्वविद्यालय Interior design के कोर्स के लिए Entrance Exam भी लेती है |

Entrance Exam For B.sc Interior Designer

इस कोर्स के लिए All India Entrance Exam for Design का Entrance Exam होता है, यह परीक्षा आम तौर पर जनवरी और अप्रैल में आयोजित की जाती है। कुछ कॉलेज NATA, CAT और MAT स्कोर भी स्वीकार करते हैं।

Common Entrance Examination for Design (CEED)

GATE qualified candidates for IIT’s

National Council for Interior Design Qualification exam

National Level Entrance Aptitude Test (NLAT) conducted by the Institute

National Entrance Examination for Design (NEED)

NID Entrance Test

इसे भी पढ़ें:- SDM क्या होता है SDM कैसे बनें?

Admission Process for B.Sc Interior Designer

बीएससी इंटीरियर डिजाइन में प्रवेश परीक्षा और योग्यता-आधारित दोनों के माध्यम से होता है।

कुछ विश्वविद्यालय इस कोर्स में सीधे प्रवेश और प्रवेश-आधारित प्रवेश दोनों प्रदान करते हैं। हालाँकि, कुछ विश्वविद्यालयों के लिए छात्रों  को B.Sc इंटीरियर डिज़ाइन के लिए प्रवेश परीक्षा देना आवश्यक है।

छात्र जो बीएससी इंटीरियर डिजाइन कोर्स के लिए आवेदन कर रहे हैं, उन्हें पहले से चयनित / चुने हुए विश्वविद्यालयों द्वारा आवश्यक संबंधित प्रवेश परीक्षा से अपना परिणाम प्राप्त करना होगा |

प्रवेश के लिए आवेदन या तो विश्वविद्यालय की वेबसाइट से या उसी के प्रवेश कार्यालय में जाकर प्राप्त किए जा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:- BSC क्या होती है बीएससी करने के क्या फायदे हैं?

Subjects/Syllabus In Interior Designer

Construction TechnologyModel Making
Furniture DesignMaterial Purchase
Cost EstimationEnvironmental Studies
Basics of Interior DesignCommunication Skills
Design TheoryDesign Practice
Drawing (Technical)Design Technology
Colour Theory and TechniquesMaterials and Finishes

Best Colleges /Universities Offering Interior Design Course

NID Ahmedabad – National Institute of Design, Gujarat

CEPT University, Ahmedabad

Hamstech Institute of Creative Education, Panjagutta, Hyderabad

MSU – The Maharaja Sayajirao University of Baroda, Vadodara

International Institute of Fashion Technology, New Delhi

Vogue Institute of Fashion Technology

Inter National Institute of Fashion Design, [INIFD] Chandigarh

LISAA School of Design, Delhi-NCR

इसे भी पढ़ें:- BCA क्या है? BCA करने के क्या फायदे है?

Career Scope of Interior Designer

बीएससी इंटीरियर डिजाइन उन छात्रों को नौकरी के कई अवसर प्रदान करता है,  छात्र या तो निजी/सार्वजनिक नौकरियों का चयन कर सकते हैं या अपना इंटीरियर डिजाइन कोर्स पूरा करने के बाद अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। विभिन्न क्षेत्र जहां इंटीरियर डिजाइन डिग्री धारकों को नौकरी मिल सकती है, वे इस प्रकार हैं-

Interior Design firmsInfrastructure and Property Developers
Furniture Manufacturing and Design firmsArchitecture and Design firms
Town Planning BureauInterior Design shops
Regional and Metropolitan Development WorksInterior Designer
3D ArtistVisual Merchandiser
CAD DesignerExhibition Designer
Textile DesignerLandscape Designer

Salary After Interior Designing Course

एक इंटीरियर डिजाइनर का वेतन कई कारकों (अनुभव, प्रतिभा, आदि) पर निर्भर करता है। औसत वेतन 20,000 से रु. 40,000 प्रति माह हो सकती है और अनुभव के साथ वेतन बढ़ता रहता है।

FAQ About Interior Design

Interior Designer Course क्या है?

इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स उन छात्रों के लिए एक लोकप्रिय विकल्प है जो इंटीरियर डिजाइन के क्षेत्र में उत्कृष्टता प्राप्त करना चाहते हैं। तेजी से हो रहे शहरीकरण ने इंटीरियर डिजाइनरों की मांग को बढ़ा दिया है। विभिन्न विश्वविद्यालयों में अब इंटीरियर डिजाइन में औपचारिक डिग्री में शामिल कर दिया है, कोई भी 12 वीं कक्षा को सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद डिप्लोमा या डिग्री प्रोग्राम का विकल्प चुन सकता है

Interior Design का कोर्स कितने साल का होता है?

इंटीरियर डिजाइनिंग का कोर्स 2 प्रकार के होते है ग्रेजुएशन कोर्स और डिप्लोमा कोर्स, ग्रेजुएशन का कोर्स 3 वर्षो का होता है तो वही डिप्लोमा का कोर्स 2 वर्षो का होता है |

इंटीरियर डिजाइनर के लिए कुछ अनिवार्य कौशल कौन से हैं?

एक के रूप में आपके अंदर एक आवश्यक क्रिएटिव skill होना चाहिए, यदि आप एक रचनात्मक व्यक्ति हैं और आपको डिजाइन करना पसंद हैं, तो यह कोर्स आपके लिए काफी मददगार होगा।

मुझे उम्मीद है Interior Design कोर्स से जुडी सभी जानकारी आपको मिल गयी होगी |


Spread the love

Leave a Comment