ताजमहल पर निबंध – Taj Mahal Par Nibandh

नमस्कार दोस्तों स्वागत है एक और बेहतरीन पोस्ट में। आज की पोस्ट में हम बात करेंगे ताजमहल ( Taj Mahal ) के बारे में। जैसा कि आप लोग जानते हैं कि ताजमहल को प्यार का स्मारक और निशानी माना जाता है I इसका निर्माण मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज के लिए बनाया था I

अगर आप भी ताजमहल पर बेहतरीन निबंध लिखना चाहते हैं लेकिन आपको समझ में नहीं आ रहा है कि आप निबंध की शुरुआत कैसे करें तो आपके लिए यह आर्टिकल काफी महत्वपूर्ण होगा क्योंकि हम आपको यहां पर ताजमहल पर निबंध कैसे लिखें उसके बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे।

इस पोस्ट के माध्यम से हमने बताया है कि ताजमहल किसने बनवाया, ताजमहल कहां है, ताजमहल कब बनाया गया था, ताजमहल को प्यार की निशानी क्यों कहा जाता है, ताजमहल की संरचना था प्रारूप कैसा है? इत्यादि के बारे में जानकारी देने का प्रयास किया है। इस पोस्ट को हमने आसान भाषा मे लिखने का प्रयास किया है ताकि आपको सभी बातें आसानी से समझ आ सकें।

इस पोस्ट में आपको ताजमहल पर कई निबन्ध दिए गए है जैसे Taj Mahal par paragraph 100 शब्दों में, Taj Mahal par nibandh in 300 words, Taj Mahal essay in hindi 500 शब्दों में तथा ताजमहल पर 10 लाइन इत्यादि।

ताजमहल पर निबंध 100 शब्दों में – Taj Mahal Essay In Hindi

ताजमहल की गिनती दुनिया के सात आश्चर्य मे से एक माना जाता है। ताजमहल को प्यार का प्रतीक माना जाता है इसका निर्माण मुगल बादशाह शाहजहां ने किया था। ताजमहल उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में स्थित है I

प्रतिवर्ष लाखों की संख्या में देश विदेश पर्यटक ताजमहल को देखने के लिए आते हैं I ऐसा कहा जाता है कि शाहजहां अपनी पत्नी मुमताज से बहुत ज्यादा प्यार करता था। जब उसकी पत्नी की मृत्यु हुई तो शाहजहां बहुत दुखी हुआ और उसने अपनी पत्नी की याद में ताजमहल का निर्माण करवाया है I

ताजमहल के अंदर ही उसकी पत्नी मुमताज का कब्र है ताजमहल को बनने में 20 साल का समय लगा था और अगर हम यहां पर कुल खर्च की बात करें तो ₹200000000 का खर्च उस जमाने में आया था I

ताजमहल के बारे में एक और भी बात बहुत ज्यादा प्रचलित है कि जब ताजमहल बनकर तैयार हो गया तो शाहजहां ने ताजमहल को बनाने वाले कारीगरों के हाथ काट दिए ताकि दोबारा कोई भी व्यक्ति ताजमहल की तरह कोई इमारत का निर्माण ना कर सके।

ताजमहल को बनाने में 200000 मजदूरों ने काम किया है तब जाकर ताजमहल का निर्माण हो पाया है I ताजमहल के अंदर ही सजा का भी खबर है क्योंकि जब शाहजहां की मृत्यु हुई तो उसने अपनी मृत्यु के पहले आखिरी इच्छा रखी कि उसका कब्र उसकी पत्नी मुमताज के बगल में ही बनाया जाए I

जब ताजमहल बनकर तैयार हुआ तो शाहजहां के मन में एक और भी योजना चल रही थी काले पत्थर के द्वारा अपने कमरे बनाएगा ताकि जब उसकी मृत्यु हो तो उसे उसी कमरे में दफनाया जाए लेकिन उसकी योजना पूरी नहीं हो सकी क्योंकि उसके पहले ही उसकी मृत्यु हो गई I

ताजमहल पर निबंध 300 शब्दों में – Taj Mahal Par Nibandh

शाहजहां वास्तु कला प्रेमी था I इसलिए उस के शासनकाल में एक कई बड़े स्मारक और इमारतों का निर्माण किया गया। दुनिया के सात अजूबों में ताजमहल की गिनती की जाती है I ताजमहल में जिस संगमरमर पत्थर का इस्तेमाल किया गया है वह काफी महंगा पत्थर है और इसे ईरान और तुर्की जैसे देशों से मंगाया गया है।


ताजमहल कब और क्यों बनाया गया?

ताजमहल का निर्माण 1640 में मुगल शासक राजा के द्वारा किया गया था और ताजमहल का निर्माण उसने अपनी पत्नी मुमताज की याद में बनाया था कि वह अपनी पत्नी ममता से बहुत ज्यादा प्यार करता था और जब उसकी पत्नी मृत्यु हुई तो वह काफी दुखी रहने लगा जिसके बाद उसने एक था फैसला किया कि वह अपनी पत्नी की यादगार में एक ऐसा इमारत बनाएगा जिस इमारत की मिसाल पूरी दुनिया में रहेगी और सभी लोग उस इमारत को प्यार के इमारत के तौर पर जानेंगे I इस इमारत का निर्माण भारतीय, इस्लामिक, मुस्लिम, परसी कला आदि के मिश्रण के द्वारा बहुत सुन्दरता से बनाया गया है।

ताजमहल सात अजूबों में से एक है

ताजमहल को सात अजूबों में से एक अजूबा माना जाता है 1983 यूनेस्को के द्वारा विश्व धरोहर की सूची में सम्मिलित किया गया ऐसी स्मारक को देखने के लिए दुनिया के कोने कोने से लोग आते हैं और जब कोई ताजमहल के अंदर प्रवेश करता है तो उसे लगता है कि वह किसी दूसरी दुनिया में पहुंच गया है क्योंकि इसके अंदर का नजारा काफी आकर्षक और मनमोहक है।

जो भी व्यक्ति उस नजारे को देख लेगा उसे भूल पाना किसी के लिए संभव नहीं है I भारत के रविंद्र नाथ टैगोर ने ताजमहल के बारे में कहा था कि ताजमहल संगमरमर पत्थर का स्वर्ग है और अगर इस पृथ्वी पर कोई भी वास्तविक स्वर्ग है तो वह ताजमहल है I 2007 को ताजमहल को सात अजूबों की लिस्ट में सम्मिलित किया गया था I

ताजमहल की सुंदरता

ताजमहल यमुना नदी के तट पर स्थित एक सुंदर और विशाल महाल है जब इसके ऊपर सूर्य की किरने पढ़ती हैं तो इसका नजारा देखने लायक होता है। इसके अलावा ताजमहल में आपको छोटे छोटे पेड़ भी मिल जाएंगे जो देखने में काफी सुंदर आपको दिखाई पड़ेंगे और यहां पर विशाल पानी के फव्वारे भी लगाए गए हैं।

जिनसे होकर आप ताजमहल के अंदर स्थित मुमताज की कब्र तक पहुंच सकते हैं I इसके अलावा ताजमहल में कई प्रकार के शाही कलाकृतियों का निर्माण भी किया गया है जिसे आप अगर देखते हैं तो आपको लगेगा कि आप प्राचीनतम और ऐतिहासिक कालचक्र में प्रवेश कर गए हैं I

ताजमहल एक प्रमुख पर्यटक स्थल है

ताजमहल एक प्रमुख पर्यटक स्थल के तौर पर भी जहां जाता है जो कि यहां पर प्रति वर्ष लाखों की संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक घूमने के लिए आते हैं I सबसे महत्वपूर्ण बात है कि भारत में जब भी कोई विदेशी राजनेता भारत की यात्रा पर आता है तो वह ताजमहल जरुर जाता है इसका सबसे बड़ा उदाहरण है कि भारत में जब अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आए थे तो वह ताजमहल गए थे।

इसके अलावा भी कई विदेशी ताजमहल की यात्रा कर चुके हैं इसलिए ताजमहल का विश्व पर्यटक स्थलों की सूची में एक का महत्वपूर्ण स्थान है I अगर आप भी ताजमहल घूमने जाना चाहते हैं तो आप शीतकाल में ताजमहल जा सकते हैं क्योंकि उस समय ताजमहल का देखने का अपना अलग ही मजा है I

ताज महल पर निबंध 500 शब्दों में – Taj Mahal Essay In Hindi

ताजमहल उत्तर प्रदेश प्रतीक विरासत सूची में सम्मिलित है इसके अलावा 1983 में इसे विश्व विरासत सूची में शामिल किया गया है ताजमहल का निर्माण मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी तीसरी पत्नी मुमताज की याद में बनाया है क्योंकि ताजा अपनी पत्नी मुमताज से बहुत ज्यादा प्यार करता था और जब उसकी पत्नी की मृत्यु हुई तो शाहजहां काफी उदास रहने लगा और चिंता में डूबा रहता था कि ऐसा क्या करें कि आने वाली पीढ़ी उसके बारे में जान सके शाहजहां अपनी पत्नी से कितना प्रेम करता था I

ताजमहल का दुनिया के बेहतरीन कारीगरों द्वारा किया गया है और उन कारीगरों को दुनिया के कोने-कोने से लाया गया था। इसके अलावा ताजमहल को बनाने के लिए लाल पत्थर का सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता है जिसकी कीमत उस जमाने में बहुत ज्यादा थी और उस पत्थर को दुनिया के कई देशों के द्वारा लगाया गया था इसके अलावा ताजमहल में सफेद संगमरमर पत्थर का भी इस्तेमाल किया गया था।

इसके अलावा महल की सुंदरता को बढ़ाने के लिए नकाशी और हीरो की जड़ी का भी इस्तेमाल दीवारों पर किया गया है जो ताजमहल को और भी ज्यादा आकर्षक और सुंदर बनाते हैं ताजमहल को बनाने के लिए 20 साल का समय लगा था और इसके बारे में कहा जाता है कि जब महल बनकर तैयार हुआ तो शाहजहां ने सभी मजदूरों और कारीगरों को मुंह मांगा पैसा दिया लेकिन उनके हाथ भी काट लिए ताकि दोबारा इस प्रकार की इमारत किसी दूसरे व्यक्ति के लिए तैयार ना कर सके I

शाहजहां ने ताजमहल के निर्माण की प्रक्रिया शुरू की ताकि अपने पत्नी के सभी यादों को उससे इमारत के द्वारा हुआ संजो कर रखें। इसके लिए उसने देश और दुनिया के अच्छे से अच्छे कारीगर को बुलाया और कारीगरों के द्वारा उसके सामने एक सौ से अधिक डिजाइन प्रस्तुत किए गए और उनमें से शाहजहां को एक डिजाइन पसंद आया जिसमें एक इमारत खड़ी है और उसके चारों तरफ ऊंचे ऊंचे चारमीनार हैं I पूरा भवन वर्गाकार आकृति का है शाहजहां ने इस डिजाइन को पसंद किया और इसी डिजाइन के आधार पर ताजमहल बनाने का आदेश जारी किया।

मुमताज के बारे में कहा जाता है कि पर्शियन देश की एक राजकुमारी किसकी शादी शाहजहां की सेना के एक सिपाही के साथ हुआ था किंतु मुमताज देखने में इतनी सुंदर थी कि एक बार शाहजहां की नजर उस पर पड़ती है और वह उनके सुंदरता पर मर मिटे हैं जिसके बाद शाहजहां ने उसके पति की हत्या करवा दी और मुमताज से निकाह कर लिया लेकिन 1631 में 33 वर्ष की उम्र में मुमताज की मृत्यु हो जाती है I जिसके बाद यह ताजमहल बनने की प्रक्रिया शुरू हुई और ताजमहल 1652 में बनकर तैयार हुआ I

ताजमहल पर 10 पंक्तियां – Taj Mahal Par 10 Lines

  1. ताजमहल को दुनिया में सात अजूबे के नाम से जाना जाता है।
  2. ताजमहल को बनाने में 20 साल का समय लगा था।
  3. संगमरमर से पूरे ताजमहल को बनाया गया था ताकि चमक और सुंदरता बरकरार है।
  4. ताजमहल को शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज की याद में बनाया था और इस ताजमहल में उनकी पत्नी मुमताज का कब्र भी है।
  5. ताजमहल प्रेम का प्रतीक है I
  6. ताजमहल को बनवाने के लिए दुनिया के बेहतरीन कारीगरों को बुलाया गया था।
  7. इसकी शुरुआत 1631 ई में किया था।
  8. ताजमहल को 20 करोड़ भारतीय मुद्रा में बनाया गया था I
  9. ताजमहल भारत का प्रमुख पर्यटक स्थल है।
  10. हर साल दुनिया के हर कोने से हजारों लोग ताजमहल को देखने के लिए आते हैं।

इन्हे भी पढ़ें:-

उम्मीद करता हूं दोस्तों की “ताजमहल पर निबंध ( Essay On Taj Mahal In Hindi )” से सम्बंधित हमारी यह पोस्ट आपको काफी पसंद आई होगी। इस पोस्ट में हमनें ताजमहल से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां देने का प्रयास किया है। आशा है आपको पूर्ण जानकारी मिल पाई होगी।

अगर आप यह पोस्ट आपको अच्छा लगा तो आप अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर कर सकते हैं। अगर आपके मन मे कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं हम आपसे जल्द ही संपर्क करेंगे। अपना कीमती समय देने के लिए आपका बहुत – बहुत धन्यवाद।

FAQ About Taj Mahal In Hindi

Q: ताजमहल के बारे में आप क्या जानते हैं?

Ans: ताजमहल हमारे देश का गौरव है इसके अलावा दुनिया के सात अजूबों में है इसे सम्मिलित किया गया है ताजमहल देखने के लिए दुनिया के कोने कोने से पर्यटक भारत आते हैं I आसान शब्दों में कहें तो ताजमहल पर्यटक का एक बहुत बड़ा केंद्र है।

Q: ताजमहल को बनाने में कितना समय लगा?

Ans: ताजमहल को बनवाने में करीबन 20 साल का वक्त लगा तब जाकर ताजमहल का निर्माण हुआ था।

Q: शाहजहां ने कारीगर हाथ क्यों काट दिए थे?

Ans: ताजमहल बनाने वाले कारीगरों के हाथ शाहजहां ने इसलिए काट दिए थे ताकि कोई भी दोबारा ताजमहल की जैसे इमारत का निर्माण ना कर सके I

Q: ताजमहल को बनाने में सबसे अधिक किस पत्थर का इस्तेमाल किया गया है?

Ans: ताजमहल को बनाने में सफेद रंग के संगमरमर पत्थर का सबसे अधिक इस्तेमाल किया गया और इस पत्थर को ईरान से मंगाया गया था और यह काफी कीमती पत्थर है I

मेरा नाम Sandeep Karwasra है और में topkro.com ब्लॉग का ऑनर हूँ। अपने ब्लॉग के माध्यम से आप तक अच्छी जानकारी पहुंचाना मुझे काफी अच्छा लगता है।

Leave a Comment

close