Water Plant Business कैसे करें? | मिनरल वाटर प्लांट कॉस्ट, Profit, License की पूरी जानकारी

Water Plant Business kaise Shuru kare: यदि आप मिनरल वाटर प्लांट शुरू(Mineral water Plant) करने में रुचि रखते हैं, तो यह सही हो सकता है क्योंकि आजकल अधिकांश लोग मिनरल वाटर का उपयोग करना पसंद करते हैं। शहरों में ही नहीं बल्कि गांवों में भी लोग पीने और खाना पकाने के लिए सबसे अच्छा मिनरल वाटर चुनते हैं। क्योंकि मिनरल वाटर सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। तो, यह साबित करता है कि यह अच्छा उद्यम विकल्प हो सकता है।

किसी भी उद्यम को शुरू करने से पहले, ऐसे उद्यम से संबंधित प्रमुख जानकारी के बारे में संपूर्ण तथ्य प्राप्त करने के लिए संपूर्ण बाज़ार के अध्ययन की आवश्यकता होती है। चूंकि इस उद्यम का चरित्र अत्यंत जटिल है, एक बहुत अच्छा बिजनेस प्लान आपके उद्यम को आसान बनाने में सहायता कर सकता है। एक बार जब आप अपनी पूरी पढ़ाई कर लेते हैं तो आप अपने क्षेत्र में उपलब्ध कार्यक्रमों की शैलियों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा, आपको एक अच्छा विचार प्राप्त करने के लिए अपने क्षेत्र में मिनरल वाटर प्लांट (Mineral Water plant Kaise lagaye)के बारे में सोचना चाहिए।

Contents show

वाटर प्लांट बिजनेस कैसे शुरू करें?

कुछ के मन में Water Plant Kaise Shuru Kare यह सवाल आया होगा, तो आइए अब शुरू करते हैं – वाटर प्लांट बिज़नेस के लिए बिज़नेस प्‍लान बनाएं (Business Plan for Water Plant Business) अपने आस-पास के बाज़ार को लक्षित करने के लिए सबसे पहले एक संपूर्ण मार्केटिंग रणनीति बनाएं। इस मार्केटिंग रणनीति में आपके बिजनेस से जुड़ी सभी जानकारी शामिल होनी चाहिए।

यह बहुत महत्वपूर्ण हो सकता है जब आप अपने व्यवसाय बढ़ाने का इरादा रखते हैं तो आपको थोड़ी जांच पड़ताल करनी पड़ सकती है। मिनरल वाटर मार्केटिंग रणनीति (Mineral Water Marketing Plan ) विज्ञापन रणनीति, आर्थिक संपत्ति, मानव संसाधन,टीम, आपराधिक तरीके और उस क्षेत्र की पेशकश करती है जिसमें आप मिनरल वाटर प्लांट शुरू करने(Mineral water Plant) का प्रस्ताव रखते हैं।

वॉटर प्लांट बिजनेस में होने वाले कुछ लाभ (Water Plant Business Benefits)

हर मौसम में देगा फायदा

कहते हैं कि पानी है तो सब कुछ है,चाहे आप यात्रा कर रहे हों या घर पर, पार्क में बैठे हों या कार्यालय के भीतर काम कर रहे हों, जब भी आपको प्यास लगती है, तो पानी ही उसे बुझाता है।इसके अलावा कोई और पेय पदार्थ इसकी जगह नहीं ले सकता, यह अब तक एक सदाबहार उद्यम है, इसीलिए पानी से आप कई तरह के पैसे कमा सकते हैं। अपना उद्यम शुरू करने के लिए, आपको एक वॉटर प्लांट स्थापित करने की आवश्यकता है।

छोटा निवेश और बड़ी कमाई

पेयजल व्यवसाय ऐसा व्यवसाय है, जिसमें छोटे निवेश से बड़ी आय अर्जित की जा सकती है।एक पानी की बोतल 20 से 40 रुपए में मिलनी है। जबकि इसकी कीमत काफी कम है, यानी दूसरे शब्दों में यह बिजनेस कम पैसों में अच्छा रिटर्न देने वाला साबित हो सकता है। इसे शुरू करने के लिए, आपके पास प्लांट लगाने के लिए एक अच्छी जगह होनी चाहिए।

घर-कार्यस्थल और दुकानों पर आपूर्ति

इस व्यवसाय में मिनरल वाटर मशीन का महत्वपूर्ण स्थान है। इस प्रणाली के माध्यम से निकाले गए पानी को साफ किया जाता है और आरओ के पानी में बदल दिया जाता है। इसके बाद की कीमतों की बात करें तो यह आप पर निर्भर करता है कि आप बोतल से पानी घरों, दफ्तरों या दुकानों तक पहुंचाना चाहते हैं या नहीं।

हर महीने एक लाख रुपए की कमाई

ऐसा करने के बाद, आप अंधाधुंध तरीके से अपने संयंत्र में व्यवस्थित पानी की बोतलों को ऑफ़लाइन या ऑनलाइन प्रचारित कर सकते हैं। जैसा कि ऊपर बताया गया है, बाजार में एक लीटर पानी की बोतल 20 रुपये में मिलती है, कई कंपनी की बोतल भी 40 रुपये में आती है। जबकि घरों या दफ्तरों में एक बोतल पानी के लिए 45-40 रुपये देने पड़ते हैं। ऐसे में हर महीने कम से कम 50,000 हजार रुपये कमाए जा सकते हैं और अगर खपत बढ़ जाती है तो 1 लाख रुपये कमाए जा सकते हैं।

वाटर प्लांट बिज़नेस के लिए लाइसेंस और परमिट

आपको अपना Water plant Business शुरू करने के लिए लाइसेंस प्राप्त करना जरुरी है। इस उद्यम के लिए लाइसेंस प्राप्त करना उस राज्य पर निर्भर करता है जिसमें आप रहते हैं। आप जिस प्रकार का वाटर प्लांट बनाना चाहते हैं, उसे निर्धारित करने के उद्देश्य से आपको उस स्थान की नीतियों और नियमों का पालन करना चाहिए, पास के प्रबंधन प्राधिकरणों से विक्रेता लाइसेंस के लिए आवेदन करें। आप अपने राज्य के स्वास्थ्य विभाग से उद्यम की अनुमति प्राप्त करना चाहेंगे।

ये भी पढ़ें: प्लांट नर्सरी का बिज़नेस कैसे करें?

वाटर प्लांट बिजनेस के लिए लाइसेंस

आपको अपने नए उद्यम वाटर प्लांट के लिए कुछ आवश्यक पंजीकरण करवाने होंगे जो इस प्रकार है –

प्लांट का पंजीकरण

आपको अपने उद्यम के अनुसार अपनी फर्म, प्लांट या उद्यम को रजिस्टर करना होगा, अर्थात यदि आप एक लघु उद्यम शुरू करना चाहते हैं, तो आप इसे उद्यम के आधार पर रजिस्टर कर सकते हैं, यह पूरी तरह से सुचारू प्रक्रिया है। इसके साथ ही यदि आपको अपने उद्यम को बेहतर स्तर पर शुरू करने की आवश्यकता है, तो आप इसके लिए प्राइवेट लिमिटेड, एलएलपी, पार्टनरशिप या पब्लिक लिमिटेड में रजिस्टर कर सकते हैं, जिसके लिए आपको मिनिस्ट्री ऑफ कॉर्पोरेशन यानी एमसीए में आवेदन करना होगा।

GST रजिस्ट्रेशन

अपनी फर्म को पंजीकृत करने के बाद, आपको अपने बिजनेस के लिए जीएसटी पंजीकरण कराना होगा, जिसे आप सीए के माध्यम से या अतिरिक्त रूप से जीएसटी वेबसाइट पर रजिस्टर कर सकते हैं। जो 1 या 2 दिन में हो जाता है।

वाटर प्लांट बिज़नेस के लिए विक्रेता

अगला कदम वाटर प्लांट बिजनेस के लिए एक विक्रेता की खोज करना है, जो विभिन्न प्रकार की प्लास्टिक की बोतलों का विक्रय करता है। ध्यान दें कि बोतल की पेशकश करने वाले निगम को अंतर्राष्ट्रीय बोतलबंद पानी संघ (International Bottled Water Association) का सदस्य होना चाहिए,फिर उनके साथ टाई-अप करें।

वाटर प्लांट व्यवसाय की स्थापना के लिए स्थान

वाटर प्लांट लगाने में एक और महत्वपूर्ण कारक अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए एक अच्छी जगह का पता लगाना है। वर्कप्लेस लोकेशन और मैन्युफैक्चरिंग लोकेशन के लिए अलग प्रावधान होना चाहिए। अपने इलाके में एक जगह का चयन करते समय यह देखना चाहिए कि वहां से बाजार करीब है और पानी प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। आपको अतिरिक्त रूप से सड़क की पहुंच और बिजली की आपूर्ति के महत्व को याद रखना चाहिए।

वाटर प्लांट व्यवसाय के लिए आवश्यक मशीनरी

इस व्यवसाय के लिए, आपको कुछ महत्वपूर्ण मशीनों की आवश्यकता होगी, जो पानी को साफ करने और उसकी पैकेजिंग में आपकी सहायता करने में उपयोगी होगी। आपको प्लांट के लिए आवश्यक सभी उपकरण प्राप्त करने की आवश्यकता है। यदि आपके पास पर्याप्त जानकारी नहीं है तो आप उन्हें किराए पर या पट्टे पर प्राप्त कर सकते हैं। कुछ आवश्यक मशीनरी इस प्रकार है:

  • जनरेटर सेट
  • गैरेज टैंक
  • पानी भरने वाली मशीनें
  • जल उपचार मशीनें

मिनरल वाटर बनाने की प्रक्रिया

1. जमावट प्रक्रिया (Coagulation Process):

यह पहला चरण है जिसमें हम अशुद्धियों को खत्म करने के लिए कच्चे पानी में फिटकरी के रसायन मिलाते हैं। फिटकरी रसायन अच्छा पानी बनाने में मदद करता है,जमावट प्रक्रिया के बाद, पानी को 1 घंटे तक जमने के लिए रखा जाता है।

2. विपरीत परासरण (Reverse osmosis):

RO तरीके से पानी से नमक जैसी घुली हुई अशुद्धियों से उसे छुटकारा पाने में सक्षम बनाता है।

3. पानी का क्लोरीनीकरण (Chlorination):

इस तरीके का इस्तेमाल क्लोरीन टैंक में क्लोरीन फ्यूलोलिन के इफ्यूजरेंट की मदद से बैक्टीरिया और अन्य सूक्ष्म जीवों को मारने के लिए किया जाता है।

4. रेत छानना (sift sand)

अवांछित अशुद्धियों को दूर करने के लिए पानी को रेत के माध्यम से साफ किया जाता है।

5. कार्बन फिल्ट्रेशन डी-क्लोरीनीकरण (Carbon Filtration D- Chlorination)

रेत छानने के तरीके के बाद, हम फिर कार्बन क्लीयर आउट के माध्यम से पानी साफ करते हैं जिससे गंध और रंग निकल जाते हैं। कार्बन क्लीन आउट का उपयोग करके डिक्लोरीनेशन भी होता है।

6. पैकिंग और बॉटलिंग (Packing & Bottling)

पैकिंग और बॉटलिंग मशीनों की मदद से की जाती है।

वाटर प्‍लांट की उत्पादन क्षमता और लाभ मार्जिन गणना

आपके प्लांट का कुल उत्पादन आपके द्वारा काम किए जाने वाले घंटों की संख्या पर निर्भर करेगा, यानी 1 शिफ्ट को 8 घंटे मानते हुए शिफ्टों की संख्या, मान लीजिए आप 2 शिफ्ट में काम करेंगे तो यानी सोलह घंटे। इसलिए आठ घंटे में 8000 बोतलें बनाई जा सकती हैं।

वाटर प्‍लांट का लाभ मार्जिन (Profit Margin in Water plant)

अब हम इस व्यवसाय में वार्षिक लाभ की गणना करेंगे:

  • यदि आप प्रतिदिन 8000 बोतलों के निर्माण की गणना करते हैं, तो इसका मतलब है कि वर्ष में 8000 X 365 = 2920000 बोतलों का निर्माण हो सकता है।
  • क्रेटों की संख्या – क्या हम एक टोकरे में 12 बोतलें शामिल करेंगे – 2920000/12 = 24333 पैकिंग कंटेनर सालाना।
  • 1 क्रेट की बिक्री दर – क्रेट के साथ स्टेप 80 रुपये हो सकती है।
  • कुल कारोबार – 80 x 24333 = 1 करोड़ 94 लाख रुपये।
  • शुद्ध लाभ = व्यवसाय – निर्माण की लागत
  • अब आपको 24333 पैकिंग कंटेनरों के निर्माण मूल्य की गणना करने की आवश्यकता है।
  • निर्माण मूल्य में कर्मचारियों का वेतन, कच्चे कपड़े की कीमतें, बिजली का उपयोग, प्रयोगशाला की कीमतें और अलग-अलग कीमतें शामिल होंगी।
  • 24333 क्रेट डिब्बाबंद पेय के उत्पादन की लागत प्रति माह लगभग 12 लाख होगी।इसलिए साल में एक बार निर्माण का मूल्य 1 करोड़ 44 लाख हो सकता है।
  • शुद्ध लाभ = 1 करोड़ 94 लाख (कुल कारोबार) – 1 करोड़ 44 लाख (उत्पादन की लागत) = 50 लाख वार्षिक।

वाटर प्लांट व्यवसाय के लिए मार्केटिंग

अपने स्थान पर मिनरल वाटर की मार्केटिंग करना अतिरिक्त लाभ प्राप्त करने का सबसे अच्छा तरीका हो सकता है। किंगफिशर, बिसलेरी, कोका-कोला आदि जैसे प्राथमिक निर्माताओं के साथ प्रतिस्पर्धा करने के बजाय अपने इलाके में अपनी पानी की बोतलों का विपणन करें। अपने मिनरल वाटर बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए होटल, रेस्तरां, दुकानों, कार्यालयों से संपर्क करें। आप अपने क्षेत्र में ग्राहकों की आवश्यकता के आधार पर 1 लीटर, 10 लीटर, 20 लीटर और 2 लीटर बॉक्स जैसी छोटी और बड़ी बोतलों से शुरुआत कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: स्टूडेंट लाइफ में पैसा कैसे कमाए?

वाटर प्लांट बिजनेस के लिए बिजनेस टिप्स (Tips for Water Plant Business)

  • मिनरल वाटर के आस-पास के वितरण से आपकी कमाई और बिक्री को बढ़ाने के कई तरीके हैं।
  • अपने उत्पाद को भव्य तरीके से लॉन्च करें, यह आपके क्षेत्र को ठीक से पहचान दिलाने में सक्षम होगा।
  • अपने उत्पाद और बोतलों के बंडल के लिए एक आकर्षक लेआउट बनाएं।
  • एक आसान नाम दें जो बाजार में आसानी से चल सके।
  • आस-पास की सभी दुकानों से टाई-अप करें और अपने माल को बाजार तक ले जाने के लिए उनका उपयोग करें।
  • मास मीडिया के लिए सभी विज्ञापन और मार्केटिंग योजनाओं का उपयोग करें।
  • अधिक ग्राहकों से जुड़ने के लिए सोशल मीडिया भी अच्छी जगह है।
  • सभी होर्डिंग्स को ऊंची सड़कों और व्यावसायिक क्षेत्रों में लगाएं।

वाटर प्लांट व्यवसाय के लिए फ्रैंचाइज़ी विकल्प

यदि आपको अपने मिनरल वाटर प्लांट के बिजनेस में आगे बढ़ना है तो आप बिसलेरी, किंगफिशर आदि जैसे प्रमुख निर्माताओं की फ्रेंचाइजी के साथ अग्रिम रूप से आगे बढ़ सकते हैं। फ़्रैंचाइज़ी विकल्प का एक लाभ यह है कि अब आपको विज्ञापन और लोगो इमेज बनाने का काम नहीं करना होगा। लोग आपके मिनरल वाटर को खरीदने में अधिक आश्वस्त हो सकते हैं, क्योंकि यह पहले से ही ब्रांडेड है! हालाँकि, इसकी खरीद के लिए एक अच्छे बजट की जरूरत पड़ेगी,अपने व्यक्तिगत लोगो के निर्माण और धीरे-धीरे बाजार को बढ़ाने की तुलना में एक फ्रैंचाइज़ी लेना थोड़ा महंगा हो सकता है।

वाटर प्लांट व्यवसाय के लिए फ्रैंचाइज़ी प्रक्रिया

बिसलेरी, किंगफिशर या कोको कोल जैसे मिनरल वाटर के प्रमुख निर्माताओं से आपको फ्रेंचाइजी मिलेगी। इसमें एक ब्रोकिंग या एजेंट आपको फ़्रैंचाइज़ी प्राप्त करने में सहायता करेगा। सभी जरूरी अनुमतियां प्राप्त करनी होंगी ताकि आप चुने गए ब्रांड के साथ आसानी से बिजनेस शुरू कर सकें। आप निर्माताओं के साथ कमाई करते हैं। ब्रांड प्रबंधन आपको सभी उपकरण प्रदान करेगा।वे कर्मचारियों को जरुरी शिक्षा भी दे सकते हैं। इसकी अधिक जानकारी के लिए आपको सम्बन्धित ब्रांड के वेबसाइट पर जाकर फ्रेंचाइजी के लिए आवेदन करना होगा।

वाटर प्लांट Business के लिए लोन

अगर आप छोटे स्तर से अपना व्यवसाय (Water Plant Business Hindi)शुरू करते हैं, तो इसके लिए आपको किसी कर्ज की जरूरत नहीं पड़ेगी लेकिन अगर आप इस व्यवसाय को बड़े स्तर पर आजमाते हैं तो इसके लिए आपको कर्ज भी लेना पड़ सकता हैं। भारत सरकार ने लोगों को व्यावसायिक उद्यम करने के लिए “मुद्रा ऋण” (Mudra loan)दिया। जिसमें आप मसालों के व्यवसाय के लिए मुद्रा लोन भी कर सकते हैं, इसके लिए आपको उनके कार्यस्थल पर जाकर अपने व्यवसाय की जानकारी देनी होगी। वाटर प्लांट के व्यवसाय में किन चीजों की आवश्यकता है। इसकी जानकारी देनी होगी। आपको यह भी लिखना होगा कि चीजों को खरीदने के लिए कितने पैसे की आवश्यकता हो सकती है।

आवश्यक दस्तावेज

  • सबसे पहले अपनी संस्था का रजिस्ट्रेशन करवा लें।
  • उसके बाद जीएसटी रजिस्ट्रेशन करवा लें।
  • उद्योग आधार में पंजीकरण कराएं।
  • बिजनेस परमिट राज्य के स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त करना होगा।
  • फूड लाइसेंस के तहत FSSAI लाइसेंस प्राप्त करें।
  • प्रदूषक प्रबंधन बोर्ड से एनओसी NOC लें।
  • अपने राज्य या देश के अलावा यदि आप विदेशों को भी निर्यात करना चाहते हैं तो आयात निर्यात कोड भी लेना होगा।
  • साथ ही जरूरत पड़ने पर ESI (कर्मचारी राज्य बीमा) और EPF (कर्मचारी भविष्य निधि) पंजीकरण भी कराना होगा।

निष्कर्ष (Conclusion)

आज कल की बढ़ती प्रतिस्पर्धा में, जीविका चलाने के लिए लोग तरह तरह के व्यवसाय और तरीके अपना रहे है, ऐसे में वॉटर प्लांट व्यवसाय कैसे शुरू करे (Water plant Business kaise shuru kare) जानना बहुत जरूरी हो जाता है। आज के इस लेख में हमने आपको Mineral Water Plant Business से जुड़ी सभी जानकारी देने की कोशिश की है, हम आशा करते हैं कि आपको हमारा ये लेख पसंद आया हो, अधिक जानकारी के लिए या किसी सुझाव के लिए आप नीचे कॉमेंट बॉक्स में अपनी बात लिख सकते है।