[ Bracket ] कोष्ठक किसे कहते हैं परिभाषा, प्रकार व उदाहरण- Kostak

नमस्कार दोस्तों Top Kro में आपका स्वागत है। आज के इस लेख में हम कोष्ठक के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे। जैसे कोष्ठक ( Bracket ) किसे कहते हैं, Kostak ke prakar, गणित में कोष्ठक का उपयोग कैसे किया जाता है इत्यादि जानकारी आपको इस पोस्ट में मिलेगी।

पूर्ण सँख्यापूर्णांक संख्या
भाज्य संख्याअभाज्य संख्या
प्राकृत संख्यापरिमेय ओर अपरिमेय संख्या
सम संख्याविषम संख्या

कोष्ठक किसे कहते हैं – Bracket Kise Kahate Hain?

कोष्टक वे चिह्न होते हैं जो प्रायः जोड़े में प्रयुक्त होते हैं और एक चीज दूसरी चीज से अलग करने के लिये प्रयोग होते हैं। इनका प्रयोग गणित में, प्रोग्रामिंग भाषाओं में, मार्कअप भाषाओं में होता है।

कोष्ठक की परिभाषा – Bracket Ki Paribhasha

कोष्ठक का उपयोग अक्सर समूह बनाने या क्रम को स्पष्ट करने के लिए किया जाता है। हालाँकि, कुछ कोष्ठक चिह्नों के गणित में विशेष उपयोग होते हैं।

कोष्ठक के प्रकार – Bracket Ke Prakar

कोष्ठक या ब्रैकेट मुख्यतः चार प्रकार के होते हैं। लेकिन कुछ जगह आपको इसके तीन ही प्रकार बताए जाते हैं वहां रेखा कोष्ठक को सम्मिलित नहीं किया जाता। लेकिन वास्तव में कोष्ठक चार प्रकार के होते हैं। आइये अब एक – एक करके इनके बारे में जानकारी हासिल करते हैं:-

1). रेखा कोष्ठक – Line Bracket In Hindi


रेखा कोष्ठक को ( —- ) संख्याओं पर एक लाइन के रूप में दर्शाया जाता है। गणित के प्रश्नों को हल करने में सर्वप्रथम रेखा ब्रैकेट को हल किया जाता है। रेखा ब्रैकेट हल करते समय रेखा के अंदर दी गयी संख्याओं को सबसे पहले हल किया जाता है।

2). लघु कोष्ठक या छोटा ब्रैकेट – Simple or Small Bracket In Hindi

लघु कोष्ठक को छोटा कोष्ठक भी कहा जाता है। लघु कोष्ठक को ( ) इस चिन्ह द्वारा दर्शाया जाता है। गणित में रेखा कोष्ठक के बाद लघु कोष्ठक को हल किया जाता है।

3). मझला कोष्ठक अर्थात मध्यम ब्रैकेट – Curly Bracket In Hindi

मझला कोष्ठक को मध्यम कोष्ठक भी कहा जाता है। मध्यम कोष्ठक को { } इस चिन्ह द्वारा दर्शाया जाता है। गणित में लघु कोष्ठक के बाद मध्यम कोष्ठक को हल किया जाता है।

4). दीर्घ कोष्ठक अर्थात बड़ा ब्रैकेट – Square Bracket In Hindi

बड़ा कोष्ठक को दीर्घ कोष्ठक भी कहा जाता है। दीर्घ कोष्ठक को [ ] इस चिन्ह द्वारा दर्शाया जाता है। गणित में मध्यम कोष्ठक के बाद दीर्घ कोष्ठक को हल किया जाता है अर्थात सबसे अंत मे बड़ा कोष्ठक हल किया जाता है।

जब प्रश्नों को हल किया जाता है तो सबसे पहले रेखा कोष्ठक फिर छोटा कोष्ठक, मझला कोष्ठक और अंत में बड़ा कोष्ठक को हल किया जाता है। वैसे ही जैसे BODMAS के नियम में होता है।

कोष्ठक पर आधारित प्रश्न – Bracket Ke Udaharan

उदाहरण.1. [ 7 + 4 × { 6 – ( 3 + 2 ) } ] हल करें?


उत्तर: जैसाकि हमें एक सवाल दिया गया है और इसको हमें हल करना है। जैसाकि हमनें अब तक पढ़ा है सबसे पहले रेखा कोष्ठक हल किया जाता है लेकिन इस प्रश्न में रेखा कोष्ठक नही है।
अगर आपको कोष्ठक के प्रश्न में रेखा कोष्ठक दिखाई दे तो आपको सबसे पहले रेखा कोष्ठक के अंदर दी गयी संख्याओं को हल करना है।
सबसे पहले हम छोटा कोष्ठक को हल करेंगे फिर मध्यम कोष्ठक को और अंत मे बड़ा कोष्ठक को हल करेंगे।

सबसे पहले छोटा कोष्ठक को हल करेंगे

[ 7 + 4 × { 6 – ( 3 + 2 ) } ]

[ 7 + 4 × { 6 – ( 5 ) } ] = [ 7 + 4 × { 6 – 5 } ]

छोटा कोष्ठक को हल करने के बाद अब मध्यम कोष्ठक को हल करेंगे।
[ 7 + 4 × { 6 – 5 } ] = [ 7 + 4 × { 1 } ]

= [ 7 + 4 × 1 ]
अब सबसे अंत मे बड़ा कोष्ठक को हल करेंगे।

= [ 7 + 4 × 1 ] = [ 7 + 4 ]
= 11 उत्तर

उदाहरण.2. 7 × [ 9 – { 4 × 2 – ( 4 × 3 – 9 )}] को हल करें?

उत्तर: इस प्रश्न को हल करने का तरीका भी वही रहेगा। अगर आपने अब तक BODMAS का नियम नहीं पढा है तो उसे जरूर पढ़ें क्योंकि ऐसे प्रश्नों को हल करने के लिए बोडमास का नियम बहुत महत्वपूर्ण है।

7 × [ 9 – { 4 × 2 – ( 4 × 3 – 9 )}]
= 7 × [ 9 – { 4 × 2 – ( 12 – 9 )}]
= 7 × [ 9 – { 4 × 2 – 3 }]
= 7 × [ 9 – { 8 – 3 }]
= 7 × [ 9 – 5 ]
= 7 × 4 = 28 उत्तर

कोष्ठक के सवाल – Bracket Ke Sawal

अब आपको अभ्यास के लिए कुछ प्रश्न दिए गए हैं आप उनको हल करके देखें। क्या आप ऐसा कर सकते हैं। अगर आपने इस पोस्ट को पूरा पढ़ा है तो आप कोष्ठक के सवाल आसानी से हल कर पाएंगे।

प्रश्न.1. 4 × [ 9 – { 3 × 2 – ( 4 × 3 – 8 )}]
प्रश्न.2. 7- [ 3 + { 3 × 2 – ( 2 × 3 – 2 )}]
प्रश्न.3. 14 + [ 3 + { 5 × 2 – ( 8 × 3 – 17 )}]

इन प्रश्नों को हल करके अपना उत्तर कंमेंट में जरूर बताएं। अगर आपको इन प्रश्नों को हल करने में कोई कठिनाई आती है तो कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

उम्मीद हैं दोस्तों कोष्ठक ( Kostak ) से सम्बंधित हमारी यह पोस्ट आपको काफी पसंद आयी होगी। इस पोस्ट में आपको ब्रैकेट के बारे में पूर्ण जानकारी मिल पाई होगी।

अब आपको कोष्ठक के प्रश्नों में कोई दिक्कत नहीं आएगी। यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के जरूर शेयर करें। अपना कीमती समय देने के लिए आपका धन्यवाद।

मेरा नाम Sandeep Karwasra है और में topkro.com ब्लॉग का ऑनर हूँ। अपने ब्लॉग के माध्यम से आप तक अच्छी जानकारी पहुंचाना मुझे काफी अच्छा लगता है।

Leave a Comment

close