जनसंख्या पर निबंध – Population Essay In Hindi

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका एक और बेहतरीन पोस्ट में। आज के लेख में हम बात करेंगे population essay in hindi के बारे में। जैसा कि आप लोग जानते हैं कि आज की तारीख में है जिस प्रकार जनसंख्या बढ़ रही है ऐसे इसे नहीं रोका गया तो भारत में जनसंख्या का विस्फोट होगा जिसके कारण देश को कई मोर्चे पर कठिनाइयों और तकलीफों का सामना करना पड़ सकता है।

ऐसे में अगर आपको पॉपुलेशन पर निबंध लिखना है लेकिन आपको समझ में नहीं आ रहा है कि एक जनसंख्या पर निबंध कैसे लिखें इसके ऊपर तो हमारा आर्टिकल आपके लिए महत्वपूर्ण होगा इसलिए हम आपसे अनुरोध करेंगे कि पोस्ट को आखिर तक पढ़े।

इस पोस्ट में आपको जनसंख्या पर कई निबन्ध दिए गए है जैसे जनसंख्या पर निबंध 100 शब्दों में, Jansankhya in hindi essay in 300 words, Jansankhya par nibandh 500 शब्दों में तथा जनसंख्या पर 10 लाइन इत्यादि।

जनसंख्या पर निबंध 150 शब्दों में – Population Essay In Hindi

जनसंख्या बढ़ने के पीछे मौसम एक महत्वपूर्ण कारक है जिस देश में गर्मी या ठंड बहुत ज्यादा पड़ती है वहां पर जनसंख्या वृद्धि बहुत ही धीमी गति से होती है इसके विपरीत अगर किसी देश में मध्यम जलवायु होता है तो ऐसे जगहों पर जनसंख्या तेजी के साथ बढ़ती है।

जिसका सबसे बड़ा उदाहरण है भारत और चीन भारत और चीन दोनों में जनसंख्या काफी तेजी के साथ बढ़ रही है चीन ने तो अपने देश में जनसंख्या नियंत्रित करने के लिए विशेष प्रकार के नियम और कानून का निर्माण किया है ताकि जनसंख्या को रोका जा सके लेकिन भारत में अभी कोई भी कानून या नियम सरकार के द्वारा नहीं बनाए गए है Population को रोका जा सके

जिन देशों प्राकृतिक संसाधन अधिक मात्रा में ऐसी जगह पर जनसंख्या में तेजी के साथ वृद्धि हो रही है और जहां पर प्रकृति संसाधनों की कमी है वहां पर Population की वृद्धि नहीं हो रही है क्योंकि लोगों को वहां पर और सभी प्रकार के सुख सुविधाएं नहीं मिल पाएंगे जिसकी जरूरत दैनिक दिनचर्या में है I

विकसित देशों जीवना स्तर काफी ऊंचा होता है इसलिए लोग ऐसे देशों की तरह बहुत ज्यादा आकर्षित होते हैं क्योंकि वहां पर जीने के सभी साधन काफी सुगम और सही तरीके से उपलब्ध होते हैं ऐसे लोगों को वहां पर आने में आसानी होती है इसका सबसे बड़ा उदाहरण है अमेरिका ब्रिटेन जैसे देश जहां का जीवन स्तर काफी उच्चतम दर्जे का है।

जनसंख्या पर निबंध 300 शब्दों में – Jansankhya Par Nibandh

बढ़ती जनसंख्या – भारत में एक बड़ी समस्या

भारत को बढ़ती आबादी की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। भारत दुनिया का दूसरा सबसे जनसंख्या वाला देश है और यहां पर Population तेजी के साथ बढ़ रही है इसकी प्रमुख वजह है कि यहां पर गरीबी और अशिक्षा का दर काफी अधिक है जिसके कारण लोग आज भी अधिक संख्या में बच्चे पैदा करते हैं इसके कारण देश की जनसंख्या में तेजी के साथ वृद्धि हो रही है इसके अलावा मृत्यु दर में भी कमी आई है।

इसकी प्रमुख वजह है कि भारत का स्वास्थ्य काफी तेजी के साथ बिगड़ रहा है जिसके कारण लोगों को अगर कोई गंभीर बीमारी हो रही है उपचार के बाद ठीक हो जा रहे हैं जिसके कारण मरने वाले लोगों की संख्या भारत में पहले की अपेक्षा कम हैI दूसरी सबसे बड़ी बात है कि भारत में ऐसे कई लोग हैं जिन्हें जनसंख्या नियंत्रित विधि और दवाइयों के बारे में मालूम नहीं है जिसके कारण Population में वृद्धि तेजी के साथ हो रही है।

इसलिए सरकार का पहला कर्तव्य है कि लोगों को जागरूक किया जाए और जनसंख्या बढ़ने के कारण किस प्रकार की दिक्कत और परेशानियों का सामना करना पड़ेगा इसके बारे में सरकार को अभियान देशभर में संचालित करना चाहिए जनसंख्या को रोकने के लिए कड़े और सख्त नियम कानून बनाना चाहिए ताकि जनसंख्या पर तत्काल में नियंत्रण किया जा सके।

भारत में जनसंख्या नियंत्रण के लिए कौन से कदम उठाने चाहिए

न्यूनतम विवाह उम्र सीमा को बढ़ाना चाहिए


भारत में ऐसे कई राज्य हैं जहां पर छोटे उम्र में बच्चों की शादी कर दी जाती है जो Population बढ़ाने का सबसे बड़ा कारक है इसलिए सरकार के द्वारा विवाह करने की लड़कों की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष लड़कियों की 18 वर्ष निर्धारित की गई है।

ताकि अधिक उम्र में शादी होने पर लड़के और लड़की को इस बात का ज्ञान होना चाहिए कि शादी के बाद उन्हें कितने बच्चे पैदा करने हैं I इसके अलावा भारत के जिन राज्यों में छोटे बच्चों की शादी कम उम्र में की जाती है ऐसे लोगों पर कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए और उन्हें जेल में रखना चाहिए ताकि बढ़ती Population को रोका जा सके

मुफ्त शिक्षा


सरकार के द्वारा बच्चों को मुफ्त में शिक्षा देनी चाहिए ताकि भारत में शिक्षा जैसी समस्या को समाप्त किया जा सके क्योंकि शिक्षा के अभाव में ही लोग अधिक बच्चे पैदा करते हैं क्योंकि उनको मालूम ही नहीं है कि अधिक बच्चे पैदा होने से केवल देश का नहीं बल्कि उनका भी नुकसान है।

क्योंकि अधिक बच्चे घर पर होने से घर पर आर्थिक बोझ पड़ता है और बच्चों का लालन-पालन अच्छी तरह से नहीं होता है ऐसे में बच्चों का भविष्य खराब हो जाता है इसलिए सरकार को मुक्त शिक्षा के द्वारा लोगों को अधिक से अधिक शिक्षित करना है ताकि लोग समझ सके की जनसंख्या वृद्धि होने से उनको क्या नुकसान होगा।

दत्तक ग्रहण को बढ़ावा देना


भारत में ऐसे कई लोग हैं जिनके कोई बच्चे नहीं होते हैं ऐसे में उन्हें बच्चे गोद लेने पड़ते हैं लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनके पास बच्चे हैं फिर भी वह बच्चे पैदा करना चाहते हैं ऐसे लोगों से अनुरोध है कि कि वह बच्चे पैदा ना करके ऐसे बच्चों को गोद ले जो आना थे ताकि उनको घर भी मिल जाए और आपको बच्चे इसे जनसंख्या वृद्धि को रोका जा सकता है इसलिए भारत में दत्तक ग्रहण की प्रक्रिया की प्रक्रिया को और भी ज्यादा पारदर्शी और सुविधाजनक बनाना होगा ताकि आमजन भी बच्चों को गोद ले सके I

विज्ञान और टेक्नोलॉजी जनसंख्या वृद्धि को बढ़ावा दे रहे हैं

पिछले कुछ दशकों से दुनिया के विभिन्न हिस्सों में जनसंख्या विस्फोट को बढ़ावा दे रहे हैं। प्रमुख कारकों में से एक विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में प्रगति है। उसके कारण मृत्यु दर में काफी कमी आई है और लोगों को अगर कोई गंभीर बीमारी है तो उनका उपचार आसानी से आज के समय किया जा सकता है।

इसके अलावा तकनीकी विकास में भी जनसंख्या वृद्धि में अपनी अहम भूमिका निभाई है पहले के समय लोग किसी जैसी चीजों से अपना जीवन यापन करते थे लेकिन जिस प्रकार उद्योग धंधे स्थापित हो रहे हैं ऐसे में लोग काम की तलाश में कल कारखानों में आ रहे हैं जिसके कारण कल कारखानों के आसपास क्षेत्रों में आबादी तेजी के साथ बढ़ रही है।

जनसंख्या पर निबंध 500 शब्दों में – Long Essay On Population In Hindi

बढ़ती जनसंख्या के कारण वन्य जीव की जनसंख्या कम हो रही है

एक तरफ जहां मानो की संख्या तेजी के साथ बढ़ रही है वैसे मैं दूसरी तरफ जंगल में रहने वाले जीव जंतुओं की जनसंख्या में तेजी के साथ गिरावट दर्ज की जा रही है इसके पीछे मनुष्य का हाथ है ऐसे अनेकों कारण है जिसके कारण वन्य जीव संख्या निरंतर कम होती जा रही है आइए हम उन कारणों के बारे में आपको नीचे बताएं।

वनों की कटाई


वन्यजीव जानवर जंगलों में रहते हैं। ऐसे में पेड़ों की कटाई लगातार की जा रही है जिसके कारण जीव जंतुओं के रहने का आवास स्थान नष्ट हो जा रहा है और उनकी संख्या भी जिसके फलस्वरूप कम हो रही है जब किसी व्यक्ति के पास रहने का घर नहीं होगा तो ऐसे में जीवन के अस्तित्व को बचा पाना संभव नहीं है मनुष्य की बढ़ती हुई जनसंख्या इसके पीछे कारक है क्योंकि जब जनसंख्या अधिक बढ़ेगी तो लोग घर बनाने के लिए वनों की साफ-सफाई और कटाई करेंगे जिसके फलस्वरूप जानवरों का घर नष्ट हो जाएगा

बढ़ता प्रदूषण


हवा पानी में जिस प्रकार प्रदूषण की समस्या
बढ़ रही है वैसे मैं जंगल रहने में रहने वाले जीव जंतुओं को स्वच्छ हवा और स्वच्छ पानी की प्राप्ति नहीं होती है जिसके कारण उन्हें कई गंभीर बीमारी होती है जिसके कारण उनकी मृत्यु तेजी के साथ हो रही है और प्रदूषण को बढ़ाने में मनुष्य का सबसे बड़ा हाथ है क्योंकि जब जनसंख्या अधिक होगी तो मनुष्य अपने दैनिक दिनचर्या और क्रियाकलापों से पर्यावरण को प्रदूषित जरूर करेगा इसलिए बढ़ती Population भी प्रदूषण का कारण है।

जलवायु में परिवर्तन


दुनिया में विभिन्न प्रकार के मौसम पाए जाते हैं कहीं पर अधिक गर्मी तो कहीं पर अधिक ठंडा तो कहीं पर अधिक वर्षा तो कहीं पर कम वर्षा मौसम के इसी विविधता के कारण जानवरों का जीवन असत्य खतरे में पड़ गया है क्योंकि जब किसी जगह अधिक गर्मी पड़ती है तो ऐसे गर्मी को बर्दाश्त करना जानवरों के लिए संभव नहीं है और ऐसे में उनकी मृत्यु निरंतर होती रहती है इसलिए मौसम में परिवर्तन भी जानवरों की संख्या को कम करने का कारक है इसके अलावा जलवायु परिवर्तन मनुष्य के जनसंख्या को बढ़ाने में भी अपनी एक अहम भूमिका निभाता है

जनसंख्या को नियंत्रित करना क्यों आवश्यक है?

भारतीय जनसंख्या किसी भी देश के विकास में सबसे बड़ी बाधा होती है क्योंकि जब कोई विकासशील देश विकसित देश बनना चाहता है तो उसके बीच में जनसंख्या सबसे बड़ी बाधा उत्पन्न करती है कि प्रदेश में बिजली की समस्या उत्पन्न जाती है और लोग बेरोजगारी की समस्या के कारण कई गलत काम करने लगते हैं I

जिसके कारण देश के सामने कई गंभीर समस्याएं उत्पन्न हो जाती है I इसके कारण कारण देश में गरीबी सबसे ज्यादा बढ़ती है और गरीबी के कारण लोगों में असंतोष की भावना भी उत्पन्न होती है।

जो किसी भी देश के लिए अच्छा नहीं है क्योंकि असंतोष की भावना आंदोलन का रूप ले लेती है और कोई भी आंदोलन देश के भलाई के लिए नहीं होता है आंदोलन के कारण देश को कई आर्थिक मोर्चों पर हानि सामना करना पड़ता है।

इसके अलावा गरीबी जनसंख्या वृद्धि को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है कि जब लोग गरीब होते हैं तो जाहिर सी बात है कि उनके पास शिक्षा की कमी होगी और शिक्षा के अभाव में जनसंख्या सबसे तेजी के साथ भारतीय इसके पीछे की वजह है कि उनके पास इस बात का ध्यान नहीं होता है कि बच्चे उन्हें कितने पैदा करनी चाहिए।

क्योंकि वह ज्ञान के अंधकार में खोए रहते हैं और अधिक से अधिक बच्चे पैदा करते हैं उनको लगता है कि अधिक बच्चे अगर पैदा होंगे तो बड़े होकर उनका सारा बनेंगे और अधिक पैसे कमा कर उनको देंगे उनकी सोच का खामियाजा देश को भुगतना पड़ता है इसलिए ऐसे लोगों को जागरूक करना होगा और सरकार को सख्त से सख्त नियम और कानून बने होंगे ताकि जनसंख्या को नियंत्रित किया जा सके I

इसके अलावा देश में जो भी प्राकृतिक का संसाधन व सीमित में है अगर ऐसे ही जनसंख्या बढ़ती रही तो जो भी संसाधन है वह समाप्त हो जाएंगे और आने वाली पीढ़ियों को कोई भी संसाधन की प्राप्ति नहीं होगी इससे उनका जीवन काफी दुर्गम हो जाएगा।

ऐसे में ब्रह्मांड पर मानव जाति का अस्तित्व खतरे में पड़ जाएगा इसलिए हमें भावी पीढ़ी के लिए सोचना होगा और जनसंख्या जैसे गंभीर मुद्दे पर हमें एक साथ मिलकर कोई ऐसा उपाय निकालना होगा ताकि जनसंख्या को बढ़ने से रोका जा सके नहीं तो हमारे वातावरण का संतुलन बिगड़ सकता है इसका खामियाजा मानव जाति के अलावा जीव जंतुओं को भी उठाना पड़ेगा I

मानव जनसंख्या को रोकने के लिए क्या उपाय करने चाहिए

शिक्षा


गरीब और अशिक्षित वर्ग के लोग परिवार नियोजन से संबंधित किसी भी चीज के बारे में नहीं जानते हैं वह केवल बच्चे पैदा करने के बारे में ही सोचते हैं और उनको यह बात भी मालूम नहीं होती है कि अगर उनके घर की जनसंख्या अधिक हो गई तो उन पर आर्थिक बोझ कम आएगा वह इस बात की परवाह करते हैं कि अगर अधिक से अधिक बच्चे पैदा उन्होंने कर दिया तो उनका भविष्य सुरक्षित होगा और बुढ़ापे में उनको अधिक पैसे की प्राप्ति होगी इसलिए हमें शिक्षा का स्तर को उंचा करना होगा और कोशिश करना होगा कि भारत के हर एक नागरिक को शिक्षित करना होगा ताकि Population वृद्धि को रोका जा सके

परिवार नियोजन


भारत सरकार और राज्य में जितनी भी सरकारें हैं उनको परिवार नियोजन से संबंधित कार्यक्रम और अभियान चलाने की जरूरत है ताकि लोगों को परिवार नियोजन के क्या फायदे हैं उनके बारे में जानकारी मिल सके इसके अलावा भारत के प्रत्येक शिक्षित व्यक्ति का कर्तव्य है कि वह ऐसे लोगों को परिवार नियोजन विधि और कार्यक्रम के बारे में बताएं जिनको इसके बारे में जानकारी नहीं है ताकि जनसंख्या की वृद्धि को रोका जा सके

मौद्रिक लाभ


ऐसी योजना का निर्माण करें जिसके अंतर्गत जिनके 1 बच्चे हैं उनको सरकार की तरफ से एक टैक्स में भारी छूट देनी चाहिए इसका फायदा यह होगा कि लोग सरकार की इस योजना का लाभ लेने के लिए एक बच्चा ही पैदा करेंगे इसका फायदा यह होगा कि जनसंख्या वृद्धि को रोका जा सकता है इस नीति का उपयोग दुनिया के कई देश कर रहे हैं इसलिए भारत को इस नीति को भारत में बहुत जल्द ही लागू करना चाहिए ताकि जनसंख्या को रोका जा सके।

जुर्माना या दंड

सरकार के द्वारा एक ऐसी व्यवस्था का निर्माण का चाहिए जिसके अंतर्गत अगर कोई भी व्यक्ति एक से अधिक बच्चे पैदा करता है तो उसको जुर्माना या दंड देना चाहिए ताकि लोगों में कानून का एक भय उत्पन्न हो सके नहीं तो अगर इसी प्रकार जनसंख्या वृद्धि होती रहेगी तो देश के सामने कई गंभीर समस्या उत्पन्न होगी इसलिए सरकार को जुर्माना और दंड की जैसी व्यवस्था करनी चाहिए ताकि जनसंख्या पर लगाम लगाई जा सके

सख्त मॉनिटरिंग आयोग का गठन करना चाहिए


सरकार को एक मॉनिटरिंग आयोग का गठन करना चाहिए जो उसका काम होगा कि सरकार ने जो भी नियम और कानून बनाए हैं उसका पालन कढ़ाई के साथ किया जा रहा है कि नहीं तभी जाकर सरकार को इस बात की जानकारी मिल पाएगी कि उसने जो भी कानून बनाया है उसका जमीन पर क्या प्रभाव है I

जनसंख्या पर 10 पंक्तियां – Population Essay Par 10 Line

  1. विशिष्ट क्षेत्र राज्य में निवास करने वाले लोगो की संख्या को हम लोग जनसंख्या करते हैं।
  2. मृत्यु दर और जन्म दर के बीच में असंतुलन की स्थिति अगर उत्पन्न होती है तो जनसंख्या वृद्धि तेजी के साथ होगी।
  3. पूरे विश्व में जनसंख्या वृद्धि तेजी के साथ हो रही है।
  4. किसी भी देश की Population के बढ़ने में उस देश की भौगोलिक स्थिति व्यवसाय प्रकृतिक संसाधन जैसी चीजें उसके पीछे महत्वपूर्ण कारक होती।
  5. जनसंख्या एक गंभीर बीमारी है अगर आप इसका सही वक्त पर उपचार नहीं करेंगे तो या एक भयंकर कैंसर बीमारी का रूप धारण कर लेगा।
  6. पूरे विश्व का 17% लोग भारत में निवास करते हैं।
  7. जनसंख्या के दृष्टिकोण से भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है।
  8. अधिक जनसंख्या वाला देश चीन है।
  9. जनसंख्या बढ़ने के पीछे अशिक्षा और गरीबी है।
  10. जनसंख्या को रोकने के लिए सरकार के द्वारा हम दो हमारे दो नाम की योजना भी संचालित की गई है।

इन्हे भी पढ़ें:-

उम्मीद करता हूं दोस्तों की “जनसंख्या पर निबंध ( Population essay in hindi )” से सम्बंधित हमारी यह पोस्ट आपको काफी पसंद आई होगी। इस पोस्ट में हमनें जनसंख्या से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां देने का प्रयास किया है। आशा है आपको पूर्ण जानकारी मिल पाई होगी।

अगर आप यह पोस्ट आपको अच्छा लगा तो आप अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर कर सकते हैं। अगर आपके मन मे कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं हम आपसे जल्द ही संपर्क करेंगे। अपना कीमती समय देने के लिए आपका बहुत – बहुत धन्यवाद।

FAQ About Population In Hindi

Q: भारत जनसंख्या के दृष्टिकोण विश्व में कितने नंबर पर है?

Ans: जनसंख्या के दृष्टिकोण से भारत विश्व का दूसरा बड़ा देश है भारत से अधिक जनसंख्या चीन की है।

Q: जनसंख्या बढ़ने से देश के आर्थिक विकास पर क्या असर पड़ता है?

Ans: जनसंख्या बढ़ने से देश के आर्थिक विकास पर विशेष प्रभाव पड़ता है इससे देश की आर्थिक विकास की दर काफी धीमी हो जाती है और साथ में देश में बेरोजगारी की समस्या भी तेजी के साथ उत्पन्न होती है इसका नकारात्मक प्रभाव देश के आर्थिक व्यवस्था पर पड़ता है।

Q: बढ़ती हुई जनसंख्या को रोकने के लिए हमारा क्या कर्तव्य है?

Ans: बढ़ती हुई जनसंख्या को रोकने के लिए प्रत्येक नागरिक को भारत सरकार के द्वारा संचालित परिवार नियोजन योजना का लाभ देना चाहिए और हमेशा 1 बच्चे पैदा करें उसके लिए आप अपने घर पर योजनाबद्ध तरीके से काम करें ताकि देश की बढ़ती Population को रोका जा सके I

मेरा नाम Sandeep Karwasra है और में topkro.com ब्लॉग का ऑनर हूँ। अपने ब्लॉग के माध्यम से आप तक अच्छी जानकारी पहुंचाना मुझे काफी अच्छा लगता है।

Leave a Comment

close